Cricket

टी20 इतिहास के टॉप 3 सबसे कम स्कोर

T20 इतिहास में टॉप 3 सबसे कम स्कोर: पूरी दुनिया में टी20 फॉर्मेट का क्रेज तेजी से बढ़ता जा रहा है. यह एक ऐसा प्रारूप है जिसे लोग काफी पसंद करते हैं, इसका मुख्य कारण यह है कि 20 ओवर की इस गेंद में काफी उत्साह होता है जबकि इसे खत्म होने में ज्यादा समय नहीं लगता है. इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि वनडे और टेस्ट वर्ल्ड कप जहां 4 साल में होते हैं, वहीं यह फॉर्मेट हर दो साल में खेला जाता है।

इस लीग में खेलने के लिए बेन स्टोक्स जैसे खिलाड़ी वनडे फॉर्मेट से भी संन्यास ले रहे हैं। कुछ क्रिकेटरों का ये भी मानना ​​है कि टी20 फॉर्मेट की वजह से वनडे क्रिकेट का नामोनिशान मिट जाएगा. कई वैश्विक फ्रेंचाइजी भी इस प्रारूप पर कड़ी मेहनत कर रही हैं और इसके परिणामस्वरूप इस प्रारूप के लिए दुनिया भर में कई घरेलू लीगों का आयोजन किया जा रहा है।

लेकिन क्या आप जानते हैं कि इस लीग में कुछ ऐसे शर्मनाक रिकॉर्ड बने हैं जिन्हें शायद ही कोई खिलाड़ी या टीम तोड़ना चाहेगी।

टी20 इतिहास के टॉप 3 सबसे कम स्कोर- आइए जानते हैं टी20 इतिहास के टॉप 3 सबसे कम स्कोर

3. लेसोथो बनाम युगांडा, 26 रन (2021)

टी20 इतिहास में टॉप 3 सबसे कम स्कोर: टी20 क्रिकेट के इतिहास में तीसरा सबसे कम स्कोर लेसोथो ने बनाया था। यह एक अंतर्राष्ट्रीय पुरुष 20-20 विश्व कप उप क्षेत्रीय अफ्रीका क्वालीफायर ग्रुप ए मैच था। इस मैच में लेसोथो ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। लेकिन उन्हें क्या पता था कि वह क्रिकेट के इतिहास में एक शर्मनाक रिकॉर्ड बना देंगे।

पारी की शुरुआत करने उतरी लेसोथो की टीम 12.4 ओवर में 26 रन बनाकर ऑलआउट हो गई। टीम के लिए सिर्फ कप्तान समीर पटेल ने सबसे ज्यादा रन बनाए और वो भी सिर्फ 10 रन. युगांडा के दिनेश नाकरानी ने लेसोथो का किया ऐसा बुरा हाल दिनेश नाकरानी ने 4 ओवर में 7 रन देकर 6 विकेट लिए। वहीं, युगांडा ने अपनी पारी में महज 3.4 ओवर में 27 रन बनाकर जीत हासिल की।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button