Cricket

बायजू के जर्सी स्पॉन्सरशिप से हटने की खबर देख ‘तू ही साला पनौती था क्यों’ फैंस को लगेगा झटका

भारत की जानी मानी एडटेक कंपनी Byju’s भारतीय क्रिकेट बोर्ड के साथ अपना करार खत्म करने वाली है। कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक बायजूज ने बोर्ड को लिखा है कि ‘वे जर्सी स्पॉन्सरशिप से बाहर निकलना चाहते हैं।’ ऐसी संभावना है, बोर्ड उन्हें अनुबंध के अनुसार जर्सी स्पॉन्सरशिप से बाहर होने की अनुमति दे सकता है।

विशेष रूप से, भारतीय क्रिकेट बोर्ड के साथ बायजू का सौदा मार्च 2022 में समाप्त होने वाला था। लेकिन बायजू ने अचानक भारतीय क्रिकेट बोर्ड के साथ अपना सौदा 2023 के अंत तक 55 मिलियन डॉलर में बढ़ा दिया। अब आर्थिक दिक्कतों के चलते एडटेक कंपनी मार्च 2023 तक बाहर निकलना चाहती है।

बायजू के कॉन्ट्रैक्ट से बाहर होने की क्या वजह है?

यह भी पता चला है कि, भारतीय क्रिकेट बोर्ड और बायजू के बीच हुए नए अनुबंध के अनुसार, बायजू ओप्पो की तुलना में प्रति मैच 10% अधिक भुगतान कर रहा है। बायजू की कंपनी में, यूनिकॉर्न लगातार दो वर्षों के हाइपरग्रोथ के बाद एडटेक सेवाओं की मांग में मंदी के साथ आक्रामक रूप से लागत में कटौती करना चाह रहा है।

कंपनी बतौर स्पॉन्सर मार्च 2023 तक जारी रह सकती है। खबर है कि बायजू का भारतीय क्रिकेट बोर्ड स्पॉन्सरशिप डील से बाहर निकलना चाहता है क्योंकि यह भारत में अपने मीडिया खर्च को अनुकूलित करता है।

कुछ महीने पहले पेटीएम ने टाइटल स्पॉन्सरशिप से हाथ खींच लिया था

पेटीएम ने कुछ महीने पहले भारतीय क्रिकेट बोर्ड के साथ अपने अनुबंध को समाप्त करने का अनुरोध किया था। इसके साथ ही उन्होंने टाइटल स्पॉन्सरशिप से भी अपना नाम वापस ले लिया था। पेटीएम का अनुबंध साल 2023 तक चलने वाला था लेकिन इसे पहले ही खत्म कर दिया गया।

पेटीएम के हटने के बाद मास्टरकार्ड ने स्पॉन्सरशिप की बागडोर अपने हाथ में ले ली है। Mastercard को उसी दर पर स्पॉन्सरशिप दी गई, जिस रेट से पेटीएम को दी गई थी। अब यह देखना दिलचस्प होगा कि किस ब्रांड को भारतीय टीम की जर्सी स्पॉन्सरशिप दी जाएगी।

लेकिन ये खबर सुनकर फैंस खुश हैं कि बायजूस की जर्सी टीम इंडिया के लिए थी। आइए देखते हैं फैंस के रिएक्शन

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button